इतिहास के पन्नों में 02 जनवरी: उच्च नागरिक सम्मान की स्थापना

Spread the love

पद्म विभूषण सम्मान, भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला दूसरा उच्च नागरिक सम्मान है, जो देश के लिए असैनिक क्षेत्रों में बहुमूल्य योगदान के लिए दिया जाता है। यह सम्मान राष्ट्रपति द्वारा दिया जाता है। इस सम्मान की स्थापना 2 जनवरी 1954 में की गयी थी।

भारत रत्न के बाद यह दूसरा प्रतिष्ठित सम्मान है। पद्म विभूषण के बाद तीसरा नागरिक सम्मान पद्मभूषण है। यह सम्मान किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट और उल्लेखनीय सेवा के लिए प्रदान किया जाता है। इसमें सरकारी कर्मचारियों द्वारा की गई सेवाएं भी शामिल हैं।

अन्य अहम घटनाएं:

1757- राबर्ट क्लाइव ने नवाब सिराजुद्दौला से कलकत्ता (कोलकाता) को वापस छीना।

1899- रामकृष्ण के आदेश के बाद साधु कलकत्ता (कोलकाता) स्थित बेलूर मठ में रहने लगे।

1941- द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान जर्मनी के हमले से ब्रिटेन के कार्डिफ शहर स्थित लेनडॉफ कैथेड्रल को भारी नुकसान।

1942- द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान जापानी सेना ने फिलीपींस की राजधानी मनीला पर क़ब्ज़ा किया।

1954- पद्म विभूषण पुरस्कार की स्थापना 2 जनवरी, 1954 में की गयी।

भारत रत्न पुरस्कार 2 जनवरी, 1954 को प्रारम्भ किया गया।

1975 – बिहार के समस्तीपुर में जिले में एक बम विस्फोट में रेलमंत्री ललित नारायण मिश्रा घायल।

1989 – रणसिंधे प्रेमदास श्रीलंका के राष्ट्रपति बने।

1991 – तिरुअनंतपुरम हवाई अड्डा को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाया गया।

2010- सोमालियाई जलदस्युओं ने इटली के जेनओआ से सोमालिया होते हुए भारत के कांडला बंदरगाह आ रहे सिंगापुर ध्वजवाहक एम.वी. प्रमोनी नामक रसायनिक जलपोत का अपहरण कर लिया।

2016- सऊदी अरब के जाने माने शिया मौलवी निम्र अल निम्र और 46 अन्य साथियों को फाँसी दी गई।

2020- भारत सरकार ने चंद्रयान-3 अभियान को मंजूरी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *