इतिहास के पन्नों में 14 सितंबरः हिंदी दिवस की शुरुआत

भाषाओं के माथे की बिंदी कही जाने वाली हिंदी के लिए 14 सितंबर एक खास दिन है। हर साल 14 दिसंबर राष्ट्रीय हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है जबकि 10 जनवरी विश्व हिंदी दिवस के रूप में। दरअसल, भारत की आजादी के पहले ही हिंदी दिवस की नींव रख दी गई थी लेकिन इसे मनाने की शुरुआत देश की आजादी के बाद हुई।

14 सितंबर 1946 को संविधान सभा ने देवनागरी लिपी में लिखी हिंदी को भारत की आधिकारिक भाषा के रूप में स्वीकार किया। देश की स्वतंत्रता के बाद आधिकारिक तौर पर पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया।

Advertisement
Advertisement

हिंदी को प्रोत्साहित करने के लक्ष्य के साथ हिंदी दिवस पर कई कार्यक्रम व सेमिनार का आयोजन होता है।

अन्य अहम घटनाएंः

1770 : डेनमार्क में प्रेस की स्वतंत्रता को मान्यता मिली।

1833 : विलियम वेंटिक, पहले गवर्नर जनरल के तौर पर भारत आए।

1901 : अमेरिकी राष्ट्रपति विलियम मैकेंजी की गोली मारकर हत्या।

1917 : रूस को आधिकारिक तौर पर गणतंत्र घोषित किया गया।

1959 : सोवियत संघ का अंतरिक्ष यान पहली बार चंद्रमा की सतह पर उतरा।

1960 : खनिज तेल उत्पादक देशों ने मिलकर ओपेक की स्थापना की।

1998 : माइक्रोसॉफ्ट, जनरल इलेक्ट्रिक को पीछे छोड़कर दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बनी थी।

2000 : माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज एम.ई. लॉन्च किया था।

2001 : अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी ओसामा बिन लादेन को पकड़ने के अभियान के लिए अमेरिका में 40 अरब डॉलर मंजूर किए।

2000 : प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने अमेरिकी सीनेट के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को सम्बोधित किया था।

2007 : जापान ने तानेगाशिया स्थित प्रक्षेपण केन्द्र से पहला चन्द्र उपग्रह एच-2ए प्रक्षेपित किया था।

2009: भारत ने श्रीलंका को 46 रन से हराकर त्रिकोणीय सीरीज का कॉम्पैक कप जीता।

2009 : भारत के लिएंडर पेस और चेक गणराज्य के लुकास लोही ने महेश भूपति और मार्क नोल्स की जोड़ी को हराकर यूएस ओपन के पुरुष युगल का खिताब जीता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

98 − 95 =