Bandhan Bank की रिटेल लोन बुक में 80 प्रतिशत की बढ़ोतरी

Spread the love

कोलकाता : बंधन बैंक ने आज वित्तीय वर्ष 2023-24 की दूसरी तिमाही के लिए अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा की। बैंक की रिटेल लोन बुक में 80 प्रतिशत की अच्छी बढ़ोतरी दर्ज की गई है और इस तरह बैंक के पोर्टफोलियो विविधीकरण एजेंडे को और मजबूती मिली है। कुल जमा में बैंक की खुदरा हिस्सेदारी अब 74 प्रतिशत है। इसी अवधि में कुल कारोबार बढ़कर करीब 2.20 लाख करोड़ रुपए हो गया है। बैंक ने कुल मिलाकर इस तिमाही में उत्साहजनक वृद्धि दर्ज की है, जो बैंक के डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क में विस्तार और कामकाज के अनुकूल माहौल के कारण संभव हुआ है।

अपने नेटवर्क विस्तार योजना के हिस्से के रूप में, बंधन बैंक ने लेह में अपनी नई शाखा खोलकर केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में अपनी उपस्थिति का विस्तार किया। यह देश के 36 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में से 35वें में बंधन बैंक के प्रवेश का प्रतीक है। तिमाही के दौरान बैंक ने देशभर में 80 शाखाएं खोलीं। बंधन बैंक भारत में 6,200 से अधिक बैंकिंग आउटलेट्स के माध्यम से 3.17 करोड़ से अधिक ग्राहकों को सेवा प्रदान करता है। बंधन बैंक में कार्यरत कर्मचारियों की कुल संख्या 74,000 से ऊपर है।

Advertisement
Advertisement

वित्तीय वर्ष 2023-24 की दूसरी तिमाही के दौरान बैंक की जमा बही पिछले वर्ष की इसी तिमाही की तुलना में 12.8 प्रतिशत से अधिक बढ़ी। कुल जमा अब 1.12 लाख करोड़ रुपए है। चालू खाता और बचत खाता (सीएएसए) रेशियो अब कुल जमा बही का 38.5 प्रतिशत है। कुल अग्रिम अब 1.08 लाख करोड़ रुपए है। पूंजी पर्याप्तता अनुपात (सीएआर), जो बैंक की स्थिरता का संकेतक है, 19.2 प्रतिशत पर है, जो नियामक आवश्यकता से काफी अधिक है।

बैंक के तिमाही नतीजों पर अपनी राय व्यक्त करते हुए एमडी और सीईओ चंद्रशेखर घोष ने कहा, ‘‘वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही में प्रदर्शन बैंक के लिए उत्साहजनक रहा है। अपने विविधीकरण एजेंडे के अनुरूप बैंक अपने खुदरा बैंकिंग पोर्टफोलियो को और बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। पिछली कुछ तिमाहियों में शुरू की गई सभी नई व्यावसायिक लाइनों और बैंक द्वारा किए गए टैक्नोलॉजी संबंधी परिवर्तन के साथ, हम इस वित्तीय वर्ष की बाकी अवधि में भी बेहतर प्रदर्शन को लेकर आश्वस्त हैं।’’

बैंक ने इस दौरान अन्य उत्पाद श्रेणियों के अलावा एसएमई लोन, गोल्ड लोन, पर्सनल लोन और ऑटो लोन जैसे क्षेत्रों में भी अपना पोर्टफोलियो बढ़ाया है। बैंक ने पिछले साल व्यवसायों के लिए वाणिज्यिक वाहन ऋण और संपत्ति पर ऋण जैसे नए कार्यक्षेत्र शुरू किए थे, जो अगली कुछ तिमाहियों में इस क्षेत्र से संबंधित लोन बुक को और आगे बढ़ाएंगे। बैंक को हाल ही में सेंट्रल सिविल पेंशन के वितरण के लिए आरबीआई द्वारा अधिकृत किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *