तमिलनाडु में छुप कर रह रहा था बांग्लादेशी दंपत्ति, बीएसएफ ने दबोचा

कोलकाता : दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के तहत सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने उत्तर 24 परगना जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा को अवैध तरीके से पार करने की कोशिश करते दो बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए महिला व पुरुष पति-पत्नी हैं। बीएसएफ की ओर से शुक्रवार शाम एक बयान में बताया गया कि दोनों को गुरुवार शाम बीएसएफ की सीमा चौकी घोजाडंगा, 153वीं वाहिनी के क्षेत्र से पकड़ा गया, जब वे दोनों सीमा पार कर वापस बांग्लादेश जाने की कोशिश कर रहे थे।
अधिकारियों ने बताया कि रूटीन ड्यूटी के दौरान जवानों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के नजदीक एक संदिग्ध युवक तथा साथ में एक युवती की गतिविधि देखी जो अवैध तरीके से सीमा पार कर बांग्लादेश जाने की कोशिश कर रहे थे। जब जवानों ने उसे चुनौती दी तो दोनों वापस भारतीय क्षेत्र में भागने की कोशिश करने लगे। सतर्क जवानों ने पीछा कर शीघ्र ही दोनों बांग्लादेशी नागरिकों को हिरासत में ले लिया।

पकड़े गए नागरिकों की पहचान अबू तालेब मोल्ला (45) तथा सेलिना परवीन (36) सतखीरा (बांग्लादेश) जिले के रहीमपुर गांव के निवासी के रूप में हुई है। प्रारंभिक पूछताछ में दोनों ने बताया कि वे बांग्लादेशी नागरिक हैं तथा पति-पत्नी हैं। रोजगार की तलाश में वर्ष 2017 में पहली बार वे लोग बांग्लादेश से भारत आए थे तथा तमिलनाडु के इरोड जिले के पेरुंदूरी में पहचान छिपाकर मजदूरी का कार्य करते थे।

दोनों ने दावा किया कि तमिलनाडु में उनके साथ और भी कई बांग्लादेशी नागरिक मजदूरी का कार्य करते हैं, जो भारत तथा बांग्लादेशी दलालों की सहायता से अवैध रूप से अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर भारत में आते हैं। जिन्हें भारतीय दलाल तमिलनाडु तथा अन्य भारतीय शहरों में रोजगार मुहैया कराने के नाम पर मोटी रकम वसूलते हैं। दंपत्ति ने दावा किया कि वे लोग अपने परिवार से मिलने के उद्देश्य से बांग्लादेश जाने के लिए दलालों की मदद से सीमा पार करने की कोशिश कर रहे थे। गिरफ्तार दंपत्ति को आगे की क़ानूनी कार्यवाही के लिये पुलिस थाना बशीरहाट को सौंप दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− 2 = 1