बांग्लादेश में चुनावी हिंसा के मद्देनजर सीमा पर बीएसएफ ने बढ़ाई गश्त

Spread the love

कोलकाता : पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश में चुनावी हिंसा के मद्देनजर भारत-बांग्लादेश अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने गश्त बढ़ा दी है। बांग्लादेश से लगती सीमा पर सुरक्षा कड़ी करने के केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश के बाद यह कदम उठाया गया है।

बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को बताया कि भारत और बांग्लादेश सीमा पर तैनात बीएसएफ टीम को अधिक सतर्क रहने को कहा गया है। सीमावर्ती क्षेत्रों में गश्त भी बढ़ाई गई है ताकि किसी भी तरह के अवैध घुसपैठ को रोका जा सके। उन्होंने बताया कि बांग्लादेश बॉर्डर गार्ड्स (बीजीबी) के साथ मिलकर समन्वय बैठक की गई है। बीजीबी के इनपुट के मुताबिक भारतीय सीमा में बीएसएफ भी अतिरिक्त तौर पर सतर्कता बरत रही है।

डीआईजी रैंक के एक अधिकारी ने बताया कि चुनाव के बाद बड़ी संख्या में सीमा पर घुसपैठ की संभावना बनी रहती है। इस बार चुनाव में वहां हो रही हिंसा के बाद इसकी संभावना और अधिक है। पश्चिम बंगाल से सटी भारत बांग्लादेश सीमा पर बड़े पैमाने पर सुबह से ही ऐसे लोगों की भीड़ है जो घुसपैठ की फिराक में थे, लेकिन बीएसएफ ने अतिरिक्त सतर्कता बरती है।

बांग्लादेश में आज आम चुनाव के लिए मतदान हो रहे हैं। कई मतदान केंद्रों पर आगजनी, तोड़फोड़, लाठीचार्ज और फायरिंग की घटनाएं हुई हैं। लगातार चौथे कार्यकाल के लिए उत्सुक बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेखा हसीना ने रविवार को 12वें आम चुनाव के लिए ढाका सिटी कॉलेज मतदान केंद्र पर अपना वोट डाला।

विपक्षी बीएनपी चुनावों का बहिष्कार कर रही है, इसलिए हसीना का सत्ता बरकरार रहना तय माना जा रहा है। अवामी लीग की अध्यक्ष हसीना अपनी बेटी साइमा वाजेद, बहन शेख रेहाना और भतीजे रादवान मुजीब सिद्दीकी के साथ सुबह करीब 08 बजे मतदान केंद्र पहुंचीं और अपने मताधिकार का प्रयोग किया। ढाका-10 निर्वाचन क्षेत्र की मतदाता हसीना गोपजगंज-3 निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ रही हैं। 42 हजार से अधिक मतदान केंद्रों पर स्थानीय समयानुसार सुबह 8 बजे शुरू हुआ मतदान शाम 4 बजे तक जारी रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *