राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता समाप्त किए जाने पर कांग्रेस नेताओं ने जताया विरोध

नयी दिल्ली : कांग्रेस नेता राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता समाप्त किए जाने पर विरोध जताया है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने शुक्रवार को कहा कि मोदी सरकार सबसे अधिक राहुल गांधी और कांग्रेस से डरती है इसीलिए राहुल गांधी की सदस्यता रद्द की गई है।

उन्होंने लोकसभा सचिवालय की ओर से की गई कार्रवाई पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि राहुल गांधी की सदस्यता समाप्त किया जाना लोकतंत्र की हत्या है। वो (मोदी सरकार) सच बोलने वालों का मुंह बंद करवाना चाहती है। देश इसे बर्दाश्त नहीं करेगा। खड़गे ने कहा कि लोकतंत्र की हिफाजत में हम जेल तक जाने को तैयार हैं।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व लोकसभा सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि भाजपा भारत जोड़ो यात्रा की सफलता से डरी हुई है। मोदी सरकार से राहुल गांधी की लोकप्रियता हजम नहीं हो रही है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि अडानी मामले पर सवाल पूछने की वजह से राहुल गांधी पर यह कार्रवाई हुई है।

कांग्रसे महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि राहुल गांधी को लोकसभा में अपना पक्ष रखने का मौका तक नहीं दिया गया। इससे पता चलता है कि मोदी सरकार राहुल गांधी से किस तरह डरी हुई है।

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि हम कानूनी और राजनीतिक दोनों तरह से इस लड़ाई को लड़ेंगे। हम डरने या चुप रहने वाले नहीं हैं। प्रधानमंत्री से जुड़े अडानी महाघोटाले में जेपीसी के बजाय राहुल गांधी को अयोग्य करार दिया गया है। यह गलत है।

उल्लेखनीय है कि केरल के वायनाड लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता समाप्त कर दी गई है। लोकसभा सचिवालय की ओर से शुक्रवार को जारी अधिसूचना के मुताबिक संविधान के अनुच्छेद 102 और जनप्रतिनिधित्व कानून की धारा 8 के तहत राहुल गांधी की सदस्यता समाप्त की गई है। राहुल गांधी को गुजरात के सूरत की अदालत ने गुरुवार को एक मामले में दोषी ठहराते हुए दो साल की सजा सुनाई। इसके बाद लोकसभा सचिवालय ने उनकी सदस्यता रद्द करने का फैसला किया, जो 23 मार्च, 2023 से प्रभावी हो गई है।

सूरत की अदालत ने राहुल के मोदी सरनेम वाले बयान पर दो साल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने साथ ही साथ राहुल को जमानत भी दे दी। कोर्ट ने इसके अलावा सजा को 30 दिन के लिए सस्पेंड कर दिया है। वर्ष 2019 में चुनाव प्रचार के दौरान राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी को लेकर बयान दिया था। राहुल ने कहा था कि ‘सारे चोरों के सरनेम मोदी कैसे हैं?’ राहुल के इस बयान के बाद सूरत पश्चिम सीट के भाजपा विधायक पूर्णेश मोदी ने मानहानि का केस कर दिया था। उन्होंने कहा था कि राहुल ने मोदी समुदाय का अपमान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

64 − 55 =