बंगाल में एडिनो वायरस का खतरा, केंद्र सरकार ने किया अलर्ट

Spread the love

कोलकाता : भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कोलकाता और इसके आसपास के जिलों में बच्चों में एडेनो वायरस के घातक संस्करण के प्रसार को लेकर पश्चिम बंगाल स्वास्थ्य विभाग को आगाह किया है। इसे लेकर राज्य सरकार को एडवाइजरी जारी की गई है।

आईसीएमआर से संबद्ध नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हैजा एंड एंटरिक डिजीज (एनआईसीईडी) के हालिया निष्कर्षों के आधार पर जानकारी मिली है। यह एडेनो वायरस के लिए व्यक्तियों के नमूना परीक्षण पर आधारित है। एडेनो वायरस के लिए परीक्षण किए गए तीन हजार 115 व्यक्तियों में से कुल एक हजार 257 का परीक्षण सकारात्मक रहा और घातक संक्रमण 40 व्यक्तियों में था। इनमें से अधिकांश बच्चे थे।

राज्य स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने अलर्ट मिलने की पुष्टि करते हुए बताया कि किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक सावधानी बरती जा रही है। वित्तीय वर्ष 2023 की शुरुआत में पश्चिम बंगाल में एडेनो वायरस ने खतरनाक रूप ले लिया। राज्य स्वास्थ्य विभाग के रिकॉर्ड के अनुसार, दिसंबर 2022 के अंत के बीच की अवधि में एडेनो वायरस पॉजिटिव व्यक्तियों के 12 सौ मामले सामने आए थे और मार्च 2023 के अंत में ज्यादातर बच्चे और उस अवधि के दौरान इससे प्रभावित होने वाली कुल मृत्यु का आंकड़ा 19 था।

हालांकि, उस समय मौत के आंकड़ों पर विवाद हुआ था। डॉक्टरों के संघों ने राज्य स्वास्थ्य विभाग पर आंकड़ों को कम करके दिखाने का आरोप लगाया था। उस समय, राज्य सरकार ने एडेनो वायरस से प्रभावित लोगों के मामलों की निगरानी और उनका उपचार सुनिश्चित करने के लिए आठ सदस्यीय टास्क फोर्स का गठन किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *