Kolkata : नहीं थम रही मौत, डेंगू से 20 साल की युवती ने तोड़ा दम

Spread the love

कोलकाता : कोलकाता के दक्षिण दमदम नगर पालिका में डेंगू के कारण 20 वर्षीय लड़की समाप्ति मलिक की मौत हो गई। यह कोलकाता के समय भारतीय शहरों में डेंगू के कारण हुई सातवीं मौत है। क्षेत्र में डेंगू के मामलों में तेजी से वृद्धि देखी जा रही है क्योंकि दमदम नगर निकाय क्षेत्र में डेंगू के कारण 500 से अधिक लोग प्रभावित हैं।

युवती कोलकाता के सर गुरुदास महाविद्यालय में बीकॉम (ऑनर्स) के तीसरे वर्ष की छात्रा थी। रविवार को रात लगभग 1:20 बजे आरजी कर मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में डेंगू से मृत्यु हो गई। सोमवार को जारी मृत्यु प्रमाण पत्र में मौत के कारण के तौर पर डेंगू का उल्लेख किया गया है।

Advertisement
Advertisement

अस्पताल की ओर से बताया गया है कि अस्पताल में भर्ती कराए जाने के तीन घंटे के भीतर ही उनकी मौत हो गई। बुधवार से बुखार और सीने में दर्द से पीड़ित होने के बाद उन्हें डेंगू होने का पता चला। इसके बाद शुक्रवार सुबह दमदम के नागेरबाजार में हेल्थकेयर नर्सिंग होम के आईसीयू में भर्ती कराया गया। लेकिन उसकी हालत बिगड़ती गई। नर्सिंग होम के अधिकारियों ने उसे आरजी कर अस्पताल में रेफर कर दिया, जहां रविवार को उसकी मौत हो गई। बच्ची की मां अपर्णा मलिक ने कहा कि लगातार प्रयास के बावजूद बच्ची को नहीं बचाया जा सका।

समाप्ति मलिक के परिवार के दो और सदस्यों का फिलहाल डेंगू का इलाज चल रहा है। उनके चाचा, बिशु मलिक (60) और उनकी चचेरी बहन, सुजाता (21), भी डेंगू संक्रमित हैं। इस प्रकोप के कारण दक्षिण दमदम क्षेत्र में छह अन्य मौतें हुई हैं, जिनमें से चार मौतें सितंबर में ही हुई थीं।

कोलकाता और पश्चिम बंगाल के दक्षिणी हिस्सों के जिलों में डेंगू के मामलों में भारी वृद्धि देखी जा रही है। आखिरी अपडेट के मुताबिक राज्य में कुल मामलों की संख्या 38 हजार के पार पहुंच गई है। राज्य में 13 से 20 सितंबर के बीच डेंगू के करीब सात हजार मामले सामने आए। दक्षिण बंगाल के जिलों के साथ-साथ उत्तरी बंगाल में भी दार्जिलिंग और कलिम्पोंग में लगभग 3276 मामले दर्ज किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *