कालीघाट वाले काकू के सेहत का अपडेट लेने अस्पताल पहुंचे ईडी अधिकारी

Spread the love

कोलकाता : नियुक्ति भ्रष्टाचार के एवज में गिरफ्तार किए गए कालीघाट वाले काकू यानी सुजय कृष्ण भद्र की सेहत का अपडेट लेने के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के जांच अधिकारी बुधवार को अचानक सरकारी एसएसकेएम मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल पहुंचे।

एक अधिकारी का कहना है कि ईडी इस बात को लेकर आश्चर्यचकित हैं कि अगस्त में बाईपास सर्जरी के दो महीने बाद भी भद्र के अस्पताल में भर्ती रहने के क्या कारण हैं। सूत्रों ने कहा कि चूंकि इतने समय तक केंद्रीय एजेंसी के अधिकारी भद्र से दोबारा पूछताछ नहीं कर सके, खासकर उनसे जुड़ी कॉर्पोरेट इकाई के संबंध में, जिनका नाम स्कूल नौकरी मामले में जांच के दौरान सामने आया था।

Advertisement
Advertisement

सूत्रों के मुताबिक, इससे मामले की जांच में आगे और तेजी से प्रगति में बाधा आ रही थी। इसलिए ईडी के जांच अधिकारियों ने सीधे अस्पताल पहुंचने और उनके स्वास्थ्य अपडेट का लेने का फैसला किया। संयोग से, कलकत्ता हाईकोर्ट ने हाल ही में केंद्रीय एजेंसी को स्कूल नौकरी मामले में जांच प्रक्रिया को इस साल 31 दिसंबर तक समाप्त करने का निर्देश दिया है।

हालांकि, भद्र की बाईपास सर्जरी कोलकाता के एक निजी अस्पताल में की गई थी, लेकिन वहां से डिस्चार्ज होने के बाद उन्हें एसएसकेएम में स्थानांतरित कर दिया गया था। तब से केंद्रीय एजेंसी के अधिकारियों को उनसे पूछताछ करने का एक भी मौका नहीं मिला।

उल्लेखनीय है कि स्कूल नौकरी मामले में मुख्य आरोपित और अभिषेक बनर्जी के बेहद खास भद्र को ईडी के अधिकारियों ने इस साल 30 मई को एजेंसी के सॉल्ट लेक कार्यालय में 12 घंटे की मैराथन पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया था। इस साल जुलाई में ईडी ने एक चार्जशीट दायर की, जिसमें उन्होंने भद्र को मामले में शामिल बताया। सात हजार 600 पन्ने की चार्जशीट में मुख्य चार्जशीट 125 पेज की है।

केंद्रीय एजेंसी के अधिकारियों ने विस्तार से बताया है कि कैसे भद्र ने मामले में आय एकत्र की और फिर उसे विभिन्न चैनलों के माध्यम से डायवर्ट किया। चार्जशीट में ईडी ने विस्तार से बताया है कि हवाला मार्ग के माध्यम से आय को डायवर्ट करने के लिए भद्र और उनके करीबी सहयोगियों ने 100 से अधिक बैंक खातों का इस्तेमाल किया था। इसमें लिप्स एंड बाउंड्स नाम की उस कंपनी का अकाउंट भी शामिल रहा है जिसमें भद्र काम करते थे और इसके मलिक अभिषेक बनर्जी हैं। इसलिए इस सिलसिले में बनर्जी और उनके परिवार के कई सदस्यों से भी कई दौर की पूछताछ हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *