जादवपुर छात्र की मौत मामले में हॉस्टल अधिकारी और डीन को लालबाजार में पूछताछ के लिए बुलाया

कोलकाता : जादवपुर विश्वविद्यालय के हॉस्टल के बालकनी से गिरकर गुरुवार तड़के स्वप्नदीप कुंडू नाम के 18 वर्षीय प्रथम वर्ष के छात्र की मौत मामले को लेकर पुलिस ने जांच तेज कर दी है। शुक्रवार को लाल बाजार स्थित कोलकाता पुलिस मुख्यालय की ओर से हॉस्टल के अधिकारियों और डीन ऑफ स्टूडेंट को पूछताछ के लिए बुलाया गया है।

कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि फिलहाल पुलिस की डिटेक्टिव डिपार्टमेंट ने घटना की जांच शुरू की है। डीन ऑफ स्टूडेंट्स से पूछताछ इसलिए जरूरी है क्योंकि स्वप्नदीप के बर्ताव के बारे में उसके सह निवासियों ने दी डीन को तीन बार फोन किया था। पहली बार उन्होंने फोन पर बात की लेकिन कोई कदम नहीं उठाया। इसके अलावा दूसरी बार जब उन्होंने फोन उठाया तो शिकायत करने वाले छात्रों को ही धमकी दी थी। इसके बाद तीसरी बार उन्होंने फोन ही नहीं उठाया। ऐसे में अधिकारियों के बर्ताव पर सवाल खड़े हो रहे हैं। स्वप्नदीप की मौत के मामले में पुलिस ने हत्या की धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की है। सुबह के समय ही हॉस्टल में रहने वाले स्वप्नदीप के 10 से 12 साथियों को बुलाकर पुलिस ने पूछताछ शुरू की है। इसके साथ ही हॉस्टल के अधिकारियों से भी पूछताछ कर यह पता लगाया जाएगा कि वहां बाकी छात्रों के साथ भी स्वप्नदीप की तरह रैगिंग होती है या नहीं।

सुकांत ने दिया परिवार को कानूनी मदद का आश्वासन, प्रशासन पर गंभीर आरोप

घटना को लेकर राजनीति भी तेज हो गई है। स्वप्नदीप की मौत के बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने परिवार को कानूनी मदद का आश्वासन दिया है। इसके साथ ही पूरी प्रशासनिक व्यवस्था की संलिप्तता का आरोप मजूमदार ने लगाया है। मजूमदार ने कहा कि यह घटना साबित करती है पश्चिम बंगाल सरकार शिक्षा क्षेत्र में शासन की व्यवस्था सुनिश्चित करने में विफल रही है। यह सरकार के लिए लज्जा जनक हालात हैं।

शंकुदेब पांडा ने लिखा गृह मंत्री को पत्र, सीबीआई जांच की मांग

इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी के नेता शंकुदेब पांडा ने इस घटना में गहरी साजिश का आरोप लगाते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा है। उन्होंने इस मामले में पुलिस की विफलता का जिक्र करते हुए घटना की सीबीआई जांच की मांग की है।

इधर इस घटना के खिलाफ स्वप्नदीप के साथ पढ़ने वाले छात्रों और पड़ोसियों ने सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया है और रैगिंग करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 + 3 =