आईएनडीआईए गठबंधन का गठन सनातन धर्म के विरोध के लिए किया गया: रविशंकर प्रसाद

नयी दिल्ली : सनातन धर्म के खिलाफ डीएमके नेता उदयनिधि मारन के बयान के बाद अब शिक्षा मंत्री पोनमुडी के बयान पर मंगलवार को भाजपा ने आईएनडीआईए गठबंधन पर निशाना साधा है। मंगलवार को पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में भाजपा सांसद रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि अब डीएमके के शिक्षा मंत्री पोनमुडी की टिप्पणी सामने आई है।

अंग्रेजी में एक कहावत है ‘द कैट इज आउट ऑफ द बैग’।अब स्पष्ट हो गया है कि आईएनडीआईए गठबंधन का गठन सनातन धर्म का विरोध करने और उसे खत्म करने के लिए किया गया है।

Advertisement
Advertisement

रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस नेता सोनिया गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि तमिलनाडु की डीएमके पार्टी आईएनडीआईए गठबंधन में कांग्रेस की साथी है। ऐसे में इस मुद्दे पर अबतक सोनिया गांधी चुप क्यों हैं? क्या आपने हिन्दू धर्म में विश्वास रखने वाले लोगों के खिलाफ शर्मनाक बयान देने का निर्णय लिया है? आपको इस बारे में चर्चा नहीं करनी चाहिए कि आपके बेटे को हिंदू धर्म और सनातन धर्म के बारे में कितनी समझ है।

डीएमके और गठबंधन पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि ‘सनातन धर्म विरोधी’ कार्यक्रम में जहां मुख्यमंत्री स्टालिन के बेटे उदयनिधि ने सनातन धर्म की तुलना डेंगू, मलेरिया से की थी और ए राजा ने इसे “एड्स से भी बदतर” कहा था। साफ है उनका छिपा हुआ एजेंडा वोट बैंक की राजनीति करना है, सनातन धर्म का विरोध करना है। रविशंकर प्रसाद ने सवाल किया कि क्या उन्हें किसी अन्य धर्म के देवताओं की आलोचना करने का अधिकार है? क्या उनमें साहस है? क्या वे ऐसा कर सकते हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ 59 = 66