तीसरे कार्यकाल में टॉप-3 इकोनॉमी में जरूर शामिल होगा भारत

Spread the love

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को सूरत में अंतरराष्ट्रीय हीरे और आभूषण कारोबार के लिए दुनिया के सबसे बड़े और आधुनिक केंद्र सूरत डायमंड बोर्स का उद्घाटन किया। इस दौरान आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि सूरत डायमंड बोर्स मोदी की गारंटी का परिणाम है। प्रधानमंत्री ने कहा, “अब मोदी ने देश को गारंटी दी है कि अपनी तीसरी पारी (कार्यकाल) में भारत दुनिया की टॉप-3 इकोनॉमी में जरूर शामिल होगा।”

Advertisement

प्रधानमंत्री ने बताया कि 2014 में विश्व डायमंड कांफ्रेंस में उन्होंने विशेष अधिसूचित क्षेत्र (एसएनजेड) बनाने का सपना सामने रखा था। अब सूरत डायमंड बोर्स के माध्यम से यह सपना साकार हुआ है। इसे मोदी की गारंटी से जोड़ते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके पिछले दो कार्यकाल में देश की अर्थव्यवस्था 10वें से 5वें पायदान पर पहुंच गई है। उनकी गारंटी है कि अगले कार्यकाल में यह 5वें से तीसरे पायदान पर होगी। इसमें एक्सपोर्ट का बड़ा योगदान होने वाला है। इसके लिए प्रधानमंत्री ने सूरत डायमंड और आभूषण उद्योग को अपना निर्यात लक्ष्य बढ़ाने की अपील की।

Advertisement
Advertisement

उन्होंने कहा, “आजकल आप सभी ‘मोदी की गारंटी’ की चर्चा खूब सुनते होंगे। हाल के दिनों में जो चुनाव नतीजे आए, उसके बाद ये चर्चा और बढ़ गई है, लेकिन सूरत के लोग तो ‘मोदी की गारंटी’ को बहुत पहले से जानते हैं। यहां के परिश्रमी लोगों ने ‘मोदी की गारंटी’ को सच्चाई में बदलते देखा है और इस गारंटी का उदाहरण ये ‘सूरत डायमंड बोर्स’ भी है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि सूरत का डायमंड उद्योग पहले से ही 8 लाख से अधिक लोगों को रोजगार दे रहा है। अब सूरत डायमंड बोर्स से भी 1.5 लाख को रोजगार मिलने वाला है। कभी सूरत की पहचान ‘सन सिटी’ की थी। यहां के लोगों ने अपने परिश्रम से इसको डायमंड सिटी बनाया, सिल्क सिटी बनाया। आप सभी ने और मेहनत की और सूरत ब्रिज सिटी बन गया। आज लाखों युवाओं के लिए सूरत ड्रीम सिटी है और अब सूरत आईटी के क्षेत्र में भी आगे बढ़ रहा है।

उल्लेखनीय है कि डायमंड बोर्स अंतरराष्ट्रीय हीरे और आभूषण कारोबार के लिए दुनिया का सबसे बड़ा और आधुनिक केंद्र होगा। यह कच्चे और पॉलिश किए गए हीरों के साथ-साथ आभूषणों के व्यापार का एक वैश्विक केंद्र होगा। आयात-निर्यात के लिए एक्सचेंज में अत्याधुनिक ‘सीमा शुल्क निकासी गृह’, खुदरा आभूषण व्यवसाय के लिए आभूषण मॉल और अंतरराष्ट्रीय बैंकिंग और सुरक्षित वॉल्ट की सुविधा इसमें शामिल होगी।

इसका जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सूरत डायमंड बोर्स भारतीय डिजाइनरों, भारतीय डिजाइनरों, भारतीय सामग्रियों और भारतीय अवधारणाओं की क्षमताओं को प्रदर्शित करता है। ये भवन नए भारत की नई ताकत, नए संकल्प का प्रतीक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *