इतिहास के पन्नों में 14 जुलाई: हिंदी सिनेमा की सबसे पढ़ी-लिखी अभिनेत्री

एक ऐसी अदाकारा जिसके नाम एक साथ कई रिकॉर्ड है। मसलन, आंखों की जुबानी अपनी बात कहने का हुनर रखने वाली लीला चिटनिस की खूबसूरती से लेकर अदाकारी के सभी दीवाने थे। वे हिंदी सिनेमा की सबसे ज्यादा पढ़ी-लिखी अभिनेत्री थीं।

वे पहली भारतीय अभिनेत्री थीं जिन्होंने लक्स का विज्ञापन कर तहलका मचा दिया था। खास बात यह है कि लीला चिटनिस ने पति के साथ आजादी की लड़ाई में हिस्सा लिया और शिक्षिका के तौर पर भी काम किया।

कर्नाटक के धारवाड़ में एक मराठी परिवार में 9 सितंबर 1909 को पैदा हुईं लीला चिटनिस 1930 से 1980 तक भारतीय फिल्मों में सक्रिय रहीं। महाराष्ट्र की पहली ग्रेजुएट सोसाइटी लेडी का खिताब हासिल करने वाली लीला चिटनिस ने उस दौर में हिंदी सिनेमा में कदम रखा जब यह क्षेत्र महिलाओं के लिए अच्छा नहीं माना जाता था।

महज पंद्रह साल की उम्र में शादी के बावजूद उन्होंने सफल फिल्मी जीवन का न केवल आगाज किया बल्कि लंबे समय तक इसमें बनी रहीं। उन्हें पहला ब्रेक 1937 में फिल्म `जेंटलमैन डाकू’ से मिला। इसके बाद उन्होंने `बांबे टाकिज’, `कंगन’, `आजाद’, `बंधन’, `झूला’ जैसी कई फिल्में कीं जो सफल रहीं। अशोक कुमार के साथ लीला चिटनिस की सबसे सफल जोड़ी बनी और उन्होंने कई सफल फिल्में दीं। 1987 में उन्होंने फिल्मों से संन्यास ले लिया और अमेरिका चली गईं। 14 जुलाई 2003 को 93 साल की उम्र में उनका निधन हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− 6 = 3