आईसीयू से सामान्य विभाग में शिफ्ट किए गए कालीघाट वाले काकू

Spread the love

कोलकाता : राज्य सरकार द्वारा संचालित दक्षिण कोलकाता के एसएसकेएम मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल ने पश्चिम बंगाल में स्कूल भर्ती घोटाले के मुख्य आरोपित सुजय कृष्ण भद्र को कार्डियोलॉजी विभाग के आईसीयू से वापस सामान्य केबिन में स्थानांतरित कर दिया है।

Advertisement

सूत्रों ने बताया कि भद्र की चिकित्सीय स्थिति में सुधार के बाद उन्हें वापस सामान्य केबिन में स्थानांतरित करने का निर्णय को लिया गया। यह निर्णय प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के कार्डियोलॉजी विभाग के आईसीयू में केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के दो सशस्त्र कर्मियों के अलावा अपने दो अधिकारियों को निगरानी के लिए तैनात करके सुरक्षा और निगरानी को मजबूत करने के फैसले के बाद किया गया है। वहीं, मंगलवार को ईडी के अधिकारियों ने एसएसकेएम से भद्र के कोरोनरी आर्टरी बाईपास ग्राफ्ट (सीएबीजी) के बारे में रिपोर्ट मांगी है ताकि यह समझा जा सके कि इस साल अगस्त में बाईपास सर्जरी होने के बाद आरोपित को चार महीने तक भर्ती क्यों रहना पड़ा।

Advertisement
Advertisement

उल्लेखनीय है कि ईडी के अधिकारी मामले की जांच के सिलसिले में सात दिसंबर को भद्र की आवाज का नमूना परीक्षण करने से पहले अनिवार्य चिकित्सा जांच के लिए उन्हें कोलकाता के दक्षिणी बाहरी इलाके में केंद्र संचालित ईएसआई अस्पताल में स्थानांतरित करने के लिए एक एम्बुलेंस के साथ एसएसकेएम अस्पताल पहुंचे थे। हालांकि, अधिकारियों को खाली हाथ लौटना पड़ा क्योंकि एसएसकेएम के अधिकारियों ने उन्हें सूचित किया कि भद्र को एक रात पहले आईसीयू में स्थानांतरित करना पड़ा क्योंकि उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत की थी।

बाद में पता चला कि भद्र को आईसीयू में एक बिस्तर पर रखा गया था जो बच्चों के लिए आरक्षित है। सूत्रों ने कहा कि भद्र को सामान्य कैबिन में वापस स्थानांतरित करने की जानकारी मिलने पर, ईडी के अधिकारियों ने इस बात पर चर्चा शुरू कर दी है कि आरोपित को जल्द से जल्द एसएसकेएम से बाहर कैसे लाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *