मन की बात : सत्ता में नहीं, सेवा में रहना चाहता हूं : प्रधानमंत्री

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि वह कभी भी सत्ता में नहीं रहना चाहते बल्कि उनका ध्येय लोगों की सेवा करने का है। वह आज भी सत्ता में नहीं हैं और भविष्य में भी सत्ता में नहीं चाहते हैं। मैं सिर्फ सेवा में रहना चाहता हूँ। मेरे लिए ये पद, ये प्रधानमंत्री सारी चीजें सत्ता के लिए हैं ही नहीं, सेवा के लिए हैं।

प्रधानमंत्री रविवार को अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ की 83वीं कड़ी के दौरान आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी राजेश कुमार प्रजापति से चर्चा कर रहे थे। प्रधानमंत्री को उन्होंने बताया कि कैसे आयुष्मान भारत डिजिटल हेल्थ कार्ड से उन्हें अपने हृदय की बीमारी का समय पर और मुफ्त इलाज कराने में मदद मिली।

राजेश कुमार प्रजापति ने इसके लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हुए उनकी लंबी आयु की कामना करते हुए कहा, “आपकी उम्र भी इतनी लंबी हो कि हमेशा सत्ता में ही रहें और हमारे परिवार के लोग भी आपसे इतने खुश हैं क्या कहें आपसे।”

इस पर प्रधानमंत्री ने कहा, “राजेश जी, आप मुझे सत्ता में रहने की शुभकामनाएं मत दीजिए, मैं आज भी सत्ता में नहीं हूं और भविष्य में भी सत्ता में जाना नहीं चाहता हूं। मैं सिर्फ सेवा में रहना चाहता हूं, मेरे लिए ये पद, ये प्रधानमंत्री सारी चीजें ये सत्ता के लिए हैं ही नहीं भाई, सेवा के लिए है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि आयुष्मान भारत जैसी योजनाएं जो हम बनाते हैं और जारी करते हैं वह समाज के कल्याण के लिए हैं। उन्होंने कहा कि यह मेरे लिए राजनीति का साधन नहीं है बल्कि देश के लिए मेरी सेवा है।

उन्होंने कहा कि मैं अधिक से अधिक लोगों को आगे आने के लिए प्रोत्साहित करना चाहता हूं ताकि आयुष्मान भारत डिजिटल हेल्थ कार्ड के माध्यम से अधिक से अधिक लोग लाभ प्राप्त कर सकें। उन्होंने कहा कि वह हाशिए पर रहने वाले समुदायों के बीच इसे बढ़ावा देना चाहते हैं जिन्हें इसकी सबसे ज्यादा जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

89 + = 96