राष्ट्रपति 17 अगस्त को आएंगी कोलकाता, उन्नत युद्धपोत आईएनएस विंध्यगिरि का करेंगी शुभारंभ

कोलकाता : राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 17 अगस्त को गार्डन रीच शिप बिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लिमिटेड (जीआरएसई) कोलकाता में प्रोजेक्ट 17ए फ्रिगेट विंध्यगिरी को लॉन्च करेंगी। भारतीय नौसेना के एक अधिकारी ने सोमवार को बताया कि राष्ट्रपति की मौजूदगी में इस अत्याधुनिक स्वदेशी युद्धपोत का जलावतरण होगा।

कर्नाटक में एक पर्वत श्रृंखला के नाम पर रखा गया विंध्यगिरि प्रोजेक्ट 17ए फ्रिगेट्स का छठा जहाज है। प्रोजेक्ट 17ए कार्यक्रम के तहत मुंबई स्थित मझगांव डॉक शिप बिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल) द्वारा चार और गार्डन रीच शिप बिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लिमिटेड (जीआरएसई) द्वारा तीन जहाज निर्माणाधीन हैं।

परियोजना के पहले पांच जहाज 2019-2022 के बीच एमडीएल और जीआरएसई द्वारा लॉन्च किए गए थे।

अधिकारी ने कहा, “ये युद्धपोत प्रोजेक्ट 17 क्लास फ्रिगेट्स (शिवालिक क्लास) के फॉलोऑन हैं, जिनमें बेहतर स्टील्थ फीचर्स, उन्नत हथियार और सेंसर, प्लेटफॉर्म प्रबंधन सिस्टम हैं।”

आईएनएस विंध्यगिरि-जो नीलगिरि वर्ग के युद्धपोत में छठा और आखिरी था, उसने 08 जुलाई 1981 से 11 जून 2012 तक लगभग 31 वर्षों की सेवा में कई बहुराष्ट्रीय अभ्यास देखे थे और समुद्री निगरानी, तटीय गश्त और समुद्री डकैती विरोधी अभियान चलाए थे। 2011 में एक व्यापारिक जहाज के साथ दुर्घटना में क्षतिग्रस्त होने के बाद इसे सेवामुक्त कर दिया गया।

प्रोजेक्ट 17ए जहाजों को भारतीय नौसेना के युद्धपोत डिजाइन ब्यूरो द्वारा इन-हाउस डिजाइन किया गया है। नौसेना के अनुसार, प्रोजेक्ट 17ए जहाजों के उपकरणों और प्रणालियों के लिए 75 फीसदी ऑर्डर एमएसएमई सहित स्वदेशी फर्मों से हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ 47 = 57