Union Bank of India की ओर से स्पेशल MSME Credit Camp का आयोजन

कोलकाता : यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की ओर से बुधवार को महानगर में स्पेशल एमएसएमई क्रेडिट कैम्प (MSME Credit Camp) का आयोजन किया गया। इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य एमएसएमई उद्यमियों को सहयोग प्राप्त करना था।

इस संबंध में जानकारी साझा करते हुए यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के कॉरपोरेट ऑफिस (एमएसएमई) के चीफ जनरल मैनेजर लाल सिंह ने कहा कि इस कैम्प के माध्यम से एमएसएमई सेक्टर की दुविधाओं, उनके बढ़ते खर्च आदि में बैंक की ओर से सहयोग का हाथ बढ़ाया जा रहा है। कोरोना के समय एमएसएमई सेक्टर के नये उद्यमी भी इस कैम्प के माध्यम से बैंक की पेशकशों का लाभ उठा सकते हैं। इसके तहत दिए जाने वाले ऋण की ब्याज दरें तो कम रहेंगी ही इसके साथ ही प्रोसेसिंग चार्ज, एलसी व बीजी पर कमीशन आदि में भी छूट दी जाएगी। उन्होंने कहा कि देश के 125 क्षेत्रों में एक साथ इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है, जिसमें एमएसएमई क्षेत्र से जुड़े उद्यमियों ने पूरे उत्साह के साथ सहयोग किया है। उम्मीद है कि इससे एक नया कीर्तीमान स्थापित होगा। लाल सिंह ने कहा कि इस योजना के तहत बैंक ने 5000 करोड़ के ऋण का लक्ष्य निर्धारित किया था लेकिन खबर आ रही है कि 8000 करोड़ तक की ऋण राशि को लेकर विभिन्न क्षेत्रों के एमएसएमई उद्यमियों के साथ विस्तृत चर्चा जारी है, जो बेहतर संकेत हैं।

वहीं कार्यक्रम में मौजूद यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के फील्ड जनरल मैनेजर (कोलकाता) अमरेन्द्र कुमार ने कहा कि इस कैंप के माध्यम से एमएसएमई उद्यमियों को बेहतर ब्याज पर बैंक सुविधाएँ उपलब्ध करवा रही है। पूरे भारतवर्ष के साथ ही यूनियन बैंक के कोलकाता जोन स्थित सभी 412 शाखाओं में इसका आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बुधवार को ही यहां 10-12 उद्यमियों को 10-12 करोड़ का लोन आवंटित किया जा चुका है। 300-400 करोड़ के लोन को लेकर ग्राहकों से बातचीत की जा रही है और यह प्रक्रिया निरंतर जारी है और अगर इस पहल की ओर ग्राहकों का सहयोग ऐसे ही मिलता रहा तो केन्द्रीय कार्यालय से बात कर इस तरह के कैम्प के आयोजन को आगे भी जारी रखने का आग्रह किया जाएगा ताकि एमएसएमई उद्यमियों को इसका आगे भी लाभ मिलता रहे। अमरेन्द्र कुमार ने इस योजना की खासियत का जिक्र करते हुए कहा कि बैंक की इस योजना के तहत एमएसएमई सेक्टर को महज 6.80% की ब्याज दर पर विभिन्न व्यवसायों के लिए ऋण उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। इससे एमएसएमई जैसे असंगठित क्षेत्र से जुड़े उद्यमियों को कोरोना काल में काफी फायदा होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

39 − = 32