Tata Steel Chess India – Rapid & Blitz के तीसरे संस्करण की घोषणा

  • 17 नवम्बर से 21 नवम्बर तक होगा टुर्नामेंट का आयोजन
  • विजेता की ट्रॉफी का हुआ अनावरण
  • $40,000 के पुरस्कार राशि की घोषणा
  • कोलकाता के सुप्रसिद्ध नेशनल लाइब्रेरी में होगा टुर्नामेंट का आयोजन

कोलकाता : टाटा स्टील चेस इंडिया (TSCI) एक बार फिर रैपिड एंड ब्लिट्ज़ के तीसरे संस्करण के साथ तैयार है। अन्तरराष्ट्रीय सर्वश्रेष्ठ ग्रैंडमास्टर, भारतीय महिला व पुरुष वर्ग से सर्वश्रेष्ठ ग्रैंडमास्टर, युवा भारतीय प्रतिभावान खिलाड़ी और एम्बेसडर और एडवाइजर विश्वनाथन आनंद के साथ तीसरे संस्करण की घोषणा कर दी गई है। कोलकाता स्थित नेशनल लाइब्रेरी में 17-21 नवम्बर तक टाटा स्टील चेस इंडिया – रैपिड एंड ब्लिट्ज़ के तीसरे संस्करण का आयोजन होगा। इस दिन टुर्नामेंट की घोषणा के साथ ही विजेता ट्राफी का अनावरण भी किया गया और $40,000 के पुरस्कार राशि की घोषणा भी की गई।

कोलकाता में नज़र आने वाले एलिट ग्रैंडमास्टर में लेवोन एरोनियन, ले क्वांग लीम, सैम शैंकलैंड, परम मघसूदलू, विदित गुजराती, अधिबन बस्करन और हरिका द्रोणवल्ली के नाम शामिल हैं। वहीं युवा ब्रिगेड में निहाल सरीन, आर. प्रज्ञानानंधा, कार्तिकेयन मुरली, डी. गुकेश, रौनक साधवानी, अर्जुन एरिगैसी और आर. वैशाली के नाम शामिल हैं, जो अंतरराष्ट्रीय शतरंज परिदृश्य के उभरते सितारे हैं।

 

इस अवसर पर चाणक्य चौधरी, उपाध्यक्ष, कॉर्पोरेट सर्विसेज, टाटा स्टील ने कहा, “टाटा स्टील चेस इंडिया को तीसरे संस्करण के रूप में फिर से कोलकाता में वापस लाकर बेहद खुशी हो रही है। हममें से अधिक लोगों के टीकाकरण हो चुके हैं, इसके बावजूद कार्यक्रम के आयोजक कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने और सभी उपस्थित होने वाले लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हर आवश्यक कदम उठा रहे हैं। मैं TSCI 2021 में शामिल होने वालों से आग्रह करता हूँ कि वे अपने और अपने परिवारों की सुरक्षा के लिए कोविड दिशानिर्देशों का पालन करें।  हम विशेष रूप से प्रसन्न हैं कि हमारे अंतरराष्ट्रीय ग्रैंडमास्टर्स हमारे देश के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में शामिल होंगे, जिनमें हमारी प्रमुख महिला ग्रैंडमास्टर्स और ‘युवा ब्रिगेड’ शामिल है। हमारे टुर्नामेंट के एम्बेसडर होने के लिए विश्वनाथन आनंद को मेरा धन्यवाद, यह नए प्रतिभाओं को प्रेरित करेगा।”

इस मौके पर एआईसीएफ के सचिव भरत सिंह चौहान और गेमप्लान के निदेशक जीत बनर्जी ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− 4 = 6