शिल्पांचल में मजदूरों के पेट पर लात मारने की राजनीति कर रही है तृणमूल : अर्जुन सिंह

बैरकपुर : बैरकपुर औद्योगिक क्षेत्र बंजर हो गया है, वेवर्ली जूट मिल बंद है। भाटपाड़ा रिलायंस जूट मिल भी बदहाल है लेकिन राज्य सरकार को इससे कोई लेना-देना नहीं है। ये बातें भाजपा सांसद व प्रदेश बीजेपी उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह ने बुधवार को जगदल के मजदूर भवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहीं। उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल ने 2021 में सत्ता में आने के बाद आतपुर एक्साइड बैटरी कारखाने से 55 से अधिक भाजपा समर्थकों को निकाल दिया है। सांसद ने कहा कि उन्होंने सीपीएम का जमाना देखा है और उस दौर में भी ट्रेड यूनियन किया है लेकिन अब जिस तरीके से मजदूरों के पेट पर लात मारा जा रहा है, वैसा पहले कभी नहीं हुआ।
उन्होंने कहा कि एक्साइड फैक्टरी में बीजेपी यूनियन की कमेटी के कुछ सदस्यों को जबरन तृणमूल का झंडा थमा दिया है। यही नहीं, सांसद ने दावा किया कि एक्साइड कारखाने से अवैध रूप से जगदल की 10 नंबर गली के बस्ती इलाकों में ताँबा शुद्धिकरण का काम किया जा रहा है, इससे वातावरण और स्थानीय लोगों के स्वास्थ्य को खतरा है इसलिए इसे तुरन्त बंद करना चाहिए।
सांसद ने आरोप लगाया कि मिल अधिकारियों ने हाजीनगर हुकुमचंद जूट मिल में गलत आरोप लगाकर भाजपा यूनियन के सचिव धीरज मिश्रा को चार्जशीट दे दिया है, वे प्रबंधन से झा को तुरन्त काम पर लौटाने की माँग करते हैं। सांसद का यह भी दावा है कि पूरे शिल्पांचल में भाजपा समर्थित 150 से अधिक कार्यकर्ताओं को उनके काम से हटा दिया गया है। अर्जुन सिंह ने कहा कि जूट मिलों और कारखानों से संबंधित सभी मामलों की सूचना केंद्र सरकार को दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− 2 = 1